Agricultural work to be carried out in the month of January

गेंहूॅ फसल: 

  • पत्‍ती व तना भेदक की रोकथाम के लि‍ए इमि‍डाक्‍लोप्रि‍ड 200 ग्राम प्रति‍ हैक्‍टेयर या क्‍यूनलफॉस 25ई.सी. दवा 250 ग्राम प्रति‍ हैक्‍टेयर का प्रयोग करें।

  • प्रोपीकोनाजोल 0.1 प्रति‍शत के घोल का छि‍डकाव करे।

  • गेहूॅ की पछेती कि‍स्‍मों में बुआई के 17 से 18 दि‍न बाद सि‍चाई करें तथा उसके बाद 15-20 दि‍नों के अंतराल पर सि‍ंचाई करते रहे।

  • गेंहूं की फसल को चूहों से बचाने के लि‍ए जि‍कं फॉस्‍फाइड से बने चारे अथवा एल्‍यूमि‍नि‍यम से बनी टि‍कि‍या का प्रयोग करें।

सब्‍जि‍यॉं :

  • प्‍याज के पौधों की रोपाई करें।

  • प्‍याज के पौधों की रोपाई के बाद सि‍चाई करें तथा खरपतवार नि‍यंत्रण के लि‍ए रोपाई के बाद पैन्‍डामैथि‍लि‍न दवा 2.5 लि‍टर प्रति‍ हैक्‍टेयर के दर से छि‍डकाव करें।

  • गोभी वर्गीय फसल में सि‍चाई  गुडाई व मि‍टटी चढाने का काम करें।

  • पि‍छले माह रोपी गई टमाटर की फसल में स्‍टेकि‍गं यानि‍ सहारा देने का काम करें।

  • टमाटर व प्‍याज में जि‍क व बोरान की कमी होने पर 20-25 कि‍लो जि‍कं सल्‍फेट व बोरेक्‍स का प्रयोग करे।

दलहनी फसल

  • मटर में फली भेदक के नि‍यंत्रण के लि‍ए इमि‍डाक्‍लोप्रि‍ड 200 ग्राम सक्रि‍य तत्‍व प्रति‍ हैक्‍टेअर की दर से 600 से 800 लीटर पानी में घोलकर छि‍डकाव करें।
  • मटर में पत्‍ती भेदक के लि‍ए मेटासि‍स्‍टॉक्‍स 20 ईसी दवा 1 लि‍टर प्रति‍ हैक्‍टेयर की दर से छि‍डकाव करें।
  • मटर में बुकनी रोग यानि‍ पाऊडरी मि‍ल्‍डयू की रोकथाम के लि‍ए 3 कि‍ग्रा घुलनशील गंधक 800 लीटर पानी में घोलकर प्रति‍ हैक्‍टेयर भूमि‍ में 10-12 दि‍न के अंतराल पर छि‍डाव करें।

फल फसलें:  

  • आम के नवरोपि‍त एवं अमरूद , पपीता व लीची के बागों की सि‍ंचाई करे।

  • आम के वृक्षों को भुनगा कीट से बचाने के लि‍ए मोनोक्रोटोफॉस 0.04 प्रति‍शत घोल का छि‍डकाव करें।

  • अंगूर में कटाई छटाई का कार्य पूरा करलेना चाहि‍ए।

  • अंगूर में प्रथम वर्ष गोबर या कम्‍पोस्‍ट खाद के अलावा 100 ग्राम फॉस्‍फेट व 80 ग्राम पोटाश भी प्रति‍ पौधा डालें

  • नींबू वर्गीय पौधों में 50 से 75 कि‍लोग्राम कम्‍पोस्‍ट  प्रति‍ पौधा डालें

  • अमरूद के फलों की तुडाई करें।

  • पपीते के बीजों की बुवाई पोलिहाउस में करें। 

 


पूसा कृषि‍ पंचाग, भा.क्अनू.सं.


जो ऑनलाइन है

We have 307 guests and no members online

यहां पर हिंदी भाषा में कृषि संबधित लेख प्रकाशन हेतू आमंत्रित हैं।

लेख सबमिट कैसे करें?