अक्‍टूबर - Krishisewa

Agricultural work to be carried out in the month of October

पुष्‍प फसलें: 

  • इस माह में गलैडि‍योलस की  पूसा शुभम, पूसा कि‍रन, पूसा मनमोहक, पूसा वि‍दुषि‍ पूसा सृजन व पूसा उन्‍नती कि‍स्‍मों की बुआई करें। 

  • गलैडि‍योलस के लि‍ए बीज दर 1.5 लाख कंद प्रति‍ हैक्‍टेयर रखें। गलैडि‍योलस में चैफर से बचाव के लि‍ए 20-25 कि‍ग्रा / है. की दर से थीमेट–जी ग्रैन्‍यूलस भूमि‍ मे मि‍ला दें।

  • नाइट्रोजन-फासफोरस-पोटश (NPK)  को 25:16:25 ग्राम/ वर्गमीटर की दर से भूमि‍ मे मि‍ला दें।

सब्‍जि‍यॉं :

  • टमाटर की नर्सरी तैयार करें। पूसा रोहि‍णी, पूसा हाईब्रि‍ड 1,2,4,8 कि‍स्‍मों की बुआई करें

  • फूलगोभी की पछेती कि‍स्‍में पूसा स्‍नोबाल, के-1 पूसा स्‍नोबाल के टी 25, पूसा स्‍नोबाल हाईब्रि‍ड 1 की बुआई करें।

  • अगेती फसल के लि‍ए मटर की प्रजाति‍ पूसा श्री की बुआई 15 अक्‍टूबर तक कर दें।

  • सामन्‍य फसल के लि‍ए मटर की कि‍स्‍में पूसा प्रगति‍, आर्कि‍ल व पूसा श्री की बुआई 15 अक्‍टूबर के बाद भी कर सकते है।

  • गाजर की पूसा रूधि‍मा, पूसा गसूधा , पूसा असि‍ता कि‍स्‍मों की बुआई अक्‍टूबर मे कर सकते है।

  • पालक कि‍स्‍म पूसा भारती, ऑलग्रीन की बुआई करे

  • मेथी की पूसा अर्ली बंचि‍ग तथा साग सरसों कि‍ कि‍स्‍मं पूसा साग 11 की बआई करें।।

     

फल फसलें:  

  • आम मे कुरूपता रोग (मैंगो मालफारमेसन ) की रोकथाम के लि‍ए 200 PPM (2 ग्राम प्रति‍  10 लीटर पानी में) नेफथेलीन एसि‍टि‍क ऐसि‍ड का छि‍डकाव करें।

  • आम में नि‍यमि‍त फसल के लि‍ए 4-5 मि‍ली कुल्‍टार प्रति‍ वर्ग मीटर पेड के घेराव के हि‍साब से थालों में डाले।

  • अंगूर में कापर आक्‍सीक्‍लोराइड 3 ग्राम दवा 1 लि‍टर पानी में घोलकर छि‍डकाव करने से अंगूर में एन्‍थ्रेक्‍नोज रोग की रोकथाम हो जाऐगी।

  • अमरूद में 25 कि‍लोग्राम गोबर की खाद तथा नाईट्रोजन,फास्‍फोरस, पोटाश प्रत्‍येक 500 ग्राम के हि‍साब से हर पेड मे डाले।

  • अमरूद में पि‍छले साल की शीर्ष शाखाओं को 10 से 15 से.मी. लम्‍बाई पर काटकर नि‍काल दें।

     

चना मटर व सरसों:

  • चने की उन्‍नतशील कि‍स्‍में पूसा 2085, पूसा 5023 (काबुली), पूसा 547 (देशी) की बुआई करें।

  • सरसों की पूसा तारक, पूसा वि‍जय, पूसा सरसों 22, पूसा करि‍श्‍मा,पूसा बोल्‍ड  पूसा सरसों 27 की बुवाई करें

  • अक्‍टूबर के अन्‍ति‍म सप्‍ताह में मटर की बुआई से पहले उक्‍ठा रोग से बचाव के लि‍ए बैवि‍स्‍टि‍न 3.0 ग्रम /कि‍ग्रा बीज की दर से बीजोपचार करें।


पूसा कृषि‍ पंचाग, भा.क्अनू.सं.