Guava: Enriched Source of Antioxidants

अमरुद सबसे लोकप्रिय उष्णकटिबंधीय फल हैं, जिन्हें दुनिया भर में उगाया जाता है। अमरुद को ‘’उष्णकटिबंधीय का सेब’’ भी कहा जाता है, क्योंकि इसका उत्कृष्ट पाचन और पोषक तत्व, उच्च स्वाद और मध्यम मूल्य पर प्रचुर मात्रा में उपलब्धता है, अधिक सहिष्णु होने के कारण इसकी सफल खेती अनेक प्रकार की मिट्टी तथा जलवायु में की जा सकती है। जाड़े की ऋतु मे यह इतना अधिक तथा सस्ता प्राप्त होता है कि लोग इसे निर्धन जनता का एक प्रमुख फल कहते हैं।

अमरूद मीठा और स्वादिष्ट फल होने के साथ-साथ कई औषधीय गुणों से भरा हुआ है। फल विटामिन-सी, पेक्टिन और कैल्शियम, फास्फोरस और लोहे जैसे खनिजों में समृद्ध है। अमरूद के फल में मौजूद पेक्टिन की उच्च सांद्रता कोलेस्ट्रॉल को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, जिससे हृदय रोगों का खतरा कम होता है। यह शरीर में मौजूद कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि को रोकता है, इसलिए यह प्रोस्टेट कैंसर, स्तन कैंसर और मौखिक कैंसर को रोकने में लाभकारी पाया जाता है।

ये आहार फाइबर सामग्री में भी उच्च हैं, इसलिए यह उन लोगों के लिए भी फायदेमंद है, जो मधुमेह से पीड़ित हैं। अमरूद भी विटामिन-ए का एक उत्कृष्ट स्रोत हैं, इसलिए ये नेत्र स्वास्थ्य और नेत्र दृष्टि को बढ़ाने में भी फायदेमंद हैं। यह शरीर के स्वस्थ रक्त नियमन के लिए भी सहायक है। यह रक्तचाप को भी कम करता है और रक्त की तरलता को बनाए रखता है।

यह विटामिन-सी की कमी के कारण होने वाले रोग, स्कर्वी, के इलाज के लिए सबसे अच्छा उपाय माना जाता है। यह अतिसार और पेचिश को भी बाहर निकालता है, क्योंकि अमरूद को महत्वपूर्ण कसैलेपन गुणों से भी भरा जाना जाता है यह खनिज, विटामिन और आहार फाइबर का एक उत्कृष्ट संयोजन है जो वजन घटाने के लिए उत्कृष्ट है, इसलिए अमरूद खाने से हम कई तरह से स्वस्थ रह सकते हैं।

अमरूद के पोषक तत्व:

                        अमरूद का आर्थिक महत्व

     (प्रति 100 ग्राम पोषण मूल्य)

ऊर्जा 285 कि॰जूल (68 किलोकैलोरी)
कार्बोहाइड्रेट 14.32 g
शर्करा 8.92 g
आहार रेशे 5.4 g
वसा 0.95 g
प्रोटीन 2.55 g
विटामिन-ए समरूप. 31 μg
                       बीटा-कैरोटीन 374 μg
थायमिन(विटा.बी१) 0.067 mg
रिबोफ्लेविन(विटा.बी2) 0.04 mg
नायसिन(विटा.बी३) 1.084 mg
पैण्टोथेनिक अम्ल(बी५) 0.451 mg
विटामिन-बी६ 0.11 mg
फोलेट (विटा.बी9) 49 μg
विटामिन सी 228.3 mg
विटामिन के 2.2 μg
कैल्शियम 18 mg
लौह 0.26 mg
मैग्नेशियम 22 mg
मैंगनीज़ 0.15 mg
फास्फोरस 40 mg
पोटैशियम 417 mg
सोडियम 2 mg
जस्ता 0.23 mg
लाइकोपीन 5204 µg
Source: USDA Nutrient database 

अमरूद के एंटीऑक्सीडेंट स्रोत से स्वास्थ्य लाभ:

  • अमरूद का फल एंटीऑक्सिडेंट विटामिन-सी का एक उत्कृष्ट स्रोत है। 100 ग्राम ताजा फल इस विटामिन को 228 मिलीग्राम प्रदान करता है, जो कि आवश्यक डीआरआई (दैनिक-अनुशंसित सेवन) से तीन गुना से अधिक है। अपने मोटे बाहरी छिलके के ठीक नीचे का मांस उसके आंतरिक मलाईदार गूदे की तुलना में असाधारण रूप से विटामिन-सी का उच्च स्तर बनाता है।
  • विटामिन-सी शरीर के भीतर कोलेजन संश्लेषण के लिए आवश्यक है। कोलेजन रक्त वाहिकाओं, त्वचा, अंगों और हड्डियों की अखंडता को बनाए रखने के लिए आवश्यक मानव शरीर में मुख्य संरचनात्मक प्रोटीन में से एक है।
  • अमरूद का फल विटामिन-बी कॉम्प्लेक्स जैसे पैंटोथेनिक एसिड, नियासिन, विटामिन-बी6 (पाइरिडोक्सिन), विटामिन-ई के साथ-साथ मैग्नीशियम, तांबा और मैंगनीज जैसे खनिजों का भी एक मध्यम स्रोत है। मानव शरीर एंटीऑक्सिडेंट एंजाइम, सुपरऑक्साइड डिसम्यूटेज के लिए सह-कारक के रूप में मैंगनीज का उपयोग करता है।
  • अमरूद में विटामिन-सी ऑरेंज की तुलना में लगभग 3 से 4 गुना अधिक है। जो, प्रतिरक्षा प्रणाली और हृदय स्वास्थ्य को बढ़ाने में मदद करता है। विटामिन-सी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर की प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाते हैं और कैंसर से लड़ने में शरीर की मदद करते हैं। अमरूद में आयोडीन अच्छी मात्रा में पाई जाती है, जिससे थायरॉइड की समस्या में आराम होता है। इससे शरीर का हार्मोनल संतुलन बना रहता है।
  • अमरूद का फल विटामिन-ए का बहुत अच्छा स्रोत है, और बीटा-कैरोटीन, लाइकोपीन, ल्यूटिन और क्रिप्टोक्सैंथिन जैसे फ्लेवोनोइड्स। यौगिकों को एंटीऑक्सिडेंट गुण होने के लिए जाना जाता है और इसलिए यह इष्टतम स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। इसके अलावा, स्वस्थ म्यूकोसा और त्वचा को बनाए रखने के लिए भी महत्वपूर्ण है। कैरोटीन से भरपूर प्राकृतिक फलों का सेवन फेफड़ों और मौखिक गुहा के कैंसर से बचाने के लिए जाना जाता है।
  • अमरूद में मौजूद पोटैशियम शरीर में सोडियम के प्रभाव को कम करता है, जिससे ब्लड प्रेशर का संतुलन बना रहता है। इसके अलावा, यह कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है साथ ही दिल के रोगों से भी बचाव करता है।
  • अमरूद के पत्तों में प्रचुर मात्रा में एंटी माइक्रोबियल गुण मौजूद होते हैं, जिससे दांत दर्द में अमरूद के पत्ते चबाने से भी काफी आराम मिलता है। इससे कब्ज भी दूर होती है। दंत रोगों के लिए अमरूद रामबाण साबित होता है। अमरूद के पत्तों को चबाने से दांतों के कीड़े और दांतों से सम्बंधित रोग भी दूर हो जाते हैं।
  • अमरूद, डायबिटीज के मरीजों के लिए काफी भरोसेमंद फल है। अमरूद के सेवन से खून में सुगर का स्तर कम होता है और इसमें फाइबर अधिक मात्रा में होते हैं जो शुगर के अवशोषण और इन्सुलिन बढ़ाने में मदद करते हैं।
  • अमरूद में एंटी ट्यूमर लाइकोपीन, विटामिन-सी, पोलिफेनोल्स जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो कैंसर को रोकने में असरदार साबित होते हैं, इसमें उपस्थित लायकोपीन सूरज की हानिकारक किरणों से बचाता है तथा त्वचा कैंसर से भी सुरक्षा करता है। इसे इसकी प्राकृतिक अवस्था में खाना सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है।

Author

अर्चित सिंह

शोध छात्र, उद्यान विभाग, कृषि विज्ञान संस्थान,

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, वाराणसी-221005, (उ. प्र.)

Email id: This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

 

 

 

 

 

 

 

 

कृषि‍सेवा मे लेख भेजें

Submit article for publication